क्या इनरवियर से भी हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर

क्या इनरवियर से भी हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर

16
0
SHARE
क्या इनरवियर से भी हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर

इनरवियर से भी महिलाओं कैंसर हो सकता है.इस समाचार ने विक्टोरिया सीक्रेट और ला सेन्ज़ा जैसी कंपनियों को एक बड़ा झटका दिया है जो तरह तरह की इनरवियर बनाने के लिए मशहूर हैं. आजकल अधिक से अधिक प्रसिद्ध महिलाएं बिना इनरवियर के बड़े समारोह में जा रही हैं. शायद वे पहले से ही सावधानी बरतनी चाहती हैं.

कई शोध कार्य से पता चला है की प्रीमिनोपौसल में महिलाएं जो इनरवियर नहीं पहनती हैं .उन्हे ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा आधा हो जाता है. यह उन महिलाओं के लिए एक बुरी खबर है जो सुंदर और लेस वाली इनरवियर पहनती हैं.

बहुत देर तक टाइट पुश-अप इनरवियर पहनने से ब्रेस्ट की नलियाँ दब जाती हैं. जिसके कारण ब्रेस्ट से विषैले पदार्थ नहीं निकल पाते हैं। इन पदार्थों की वजह से कैंसर हो सकता है.

टाइट पइनरवियर हनने की वजह से त्वचा पर दबाव पड़ता है और निशान भी बन जाते हैं. दाग पड़ने से गांठ होने का डर रहता है, जो की कैंसर में बदल सकता है. इनरवियर के नीचे जो तार होता है वो सबसे ज़्यादा नुकसान दायक होता है। उससे त्वचा पर जलन और खरोच लग सकती है.

ज्यदातर महिलाओं के यह नहीं पता होता की पुश-अप इनरवियर ब्रेस्ट का तापमान बढ़ा देती है. इसकी वजह से हॉरमोन “प्रोलैक्टिन” का उत्पादन बढ़ जाता है जो कैंसर का कारण बन सकता है.

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए ऐसी इनरवियर पहनें जो अच्छे से फिट हो लेकिन उसमें तार या फैन्सी लेस आदि न लगी हो. एक सूती इनरवियर आपके लिए सबसे बेहतर है। यह सुनिश्चित करें की कम से कम पूरे दिन में आप 10 घंटे बिना इनरवियर के रहें. इसके लिए आप रात में इनरवियर उतार के सो सकती हैं. कभी कभी स्पोर्ट्स इनरवियर भी पहन सकती हैं वो छाती पर अधिक दबाव नहीं डालती हैं.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY