गुर्दे की पथरी का रामबाण इलाज

गुर्दे की पथरी का रामबाण इलाज

12
0
SHARE
kidney-stones-chasing-the-holy-grail-of-dissolution
गुर्दे की पथरी की समस्या आजकल तेजी से पनपने लगी है। हर एक हजार व्यक्ति में पचास व्यक्ति औसतन पथरी की समस्या है। पथरी 20 से 50 वर्ष की आयु के मध्य हो जाती है। और जोकि तेजी से बढ़ रही है। महिलाओं के अपेक्ष पुरूषों में पथरी की समस्या ज्यादा पाई जाती है। पथरी का होना मुख्य कारण गुर्दे में खनिजों एवं हाइड्रोक्लोरिक, सोडियम का जम जाना, पानी की कमी, तरल पदार्थ कम मात्रा में पीना, वर्कआउट न होना, खान-पान इत्यादि कई कारण होते हैं। गुर्दे की पथरी असहनीय दर्द / Kidney Stone Pain व्यक्ति को परेशान करता है। पथरी को नजर अंदाज करने से मूत्र नली में बड़ा खतरा हो सकता है। पथरी की शिकायत होने पर तुरन्त चिकित्सक से सलाह, उपचार ले।

पथरी के लक्षण

पथरी होने कई लक्षण होते हैं जैसेकि पेशाब में जलन, पेशाब में बदबू, भूख न लगना, पेशाब करने समय तेज पीड़ा होना, पेट के निचले हिस्से में दर्द होना, तेज पेट दर्द चक्कर आना आदि पथरी के मुख्य लक्षण माने जाते हैं।

1. सेब का सिरका

सेब का सिरका स्टोन को नष्ट करने में सहायक है, सेब का सिरका पथरी को पिघलाता है और पथरी मूत्र के रास्ते बाहर आ जाती है। सेब का सिरका स्वस्थ व्यक्ति भी आसानी से सेवन कर सकता है। सेब सिरका हाइड्रोक्लोरिक व सोडियम एसिड को शरीर गुर्दे में जमने नही देता। इसी लिए आर्युवेद में सेब का सिरका गुर्दे के अति उत्तम माना जाता है।
सेब का 4 चम्मच सिरका को 4 चम्मच पानी में गर्म कर साफ सूती कपड़े में भिगो कर पथरी वाली जगह पर सेकन करें। इससे पथरी दर्द में तुरन्त आराम मिलता है।

2. पानी निकाले पथरी

पथरी होने पर खूब पानी पीये, प्यास न लगने पर भी पानी पीये, पानी स्टोन को मूत्र के रास्ते बाहर निकालने में सहायक है। और लगातार पानी ठीक पीने से पथरी की दुबारा होने की सम्भावनाऐं ना के बराबर रहती है।

3. कुलथी अमृत दवा

कुलथी दाल या गहथ दाल, पथरी के लिए रामबाण दवा का काम करती है, कुलथी को अच्छे से साथ व धो कर रात को गुनगुने पानी में मोटा दरदरी कूट कर भिगो दें, सुबह खाली पेट कुलथी के पानी पीने से तुरन्त फायदा होता है और एक चम्मच भीगे कुलथी बारी चबा कर पानी के साथ सेवन करने से पथरी स्टोन धीरे-धीरे घटकर 20 से 25 दिनों में मूत्र के साथ बाहर आ जाती है। कुलथी का पानी दिन में रोज 4 बार जरूर पीयें। स्वस्थ व्यक्ति को भी कुलथी की दाल व कुलथी की रोटी महीने में 2 -3 बार जरूर खानी चाहिए। कुलथी से स्टोन पथरी होने की सम्भावनाऐं नहीं के बराबर होती है।

4. प्याज का रस

दो प्याज को छील कर टुक्कड़े कर हल्की आंच में 10 मिनट का उबालें, बाद में ठंड़ा होने पर पानी को दिन में 3 बार छान कर सेवन करने से पथरी बाहर निकलने में सक्षम है। प्याज में औषधीय गुण पाये जाते हैं, जोकि पथरी मरीज के लिए दवा का काम करती है।

5. जूस एवं तरल खाद्य पदार्थ

पथरी होने पर नारियल पानी, गाजर, करेला रस, फलों में अंगूर, केला, नीबूं, पाईनेपल जूस, अंगूर, सलाद में प्याज, बदाम, चैलाई का साग रूटीन के साथ सेवन करने से पथरी पिघलने व मूत्र के रास्ते बाहर आने में सहायता मिलती है।
बताए गये जूस व तरल में मैग्निशियम, विटामिन बी6, फास्फोरस, ओक्सालिड एसिड, कैल्शियम, विटामिनस व मिनरल पर्याप्त मात्रा में पाया जाती है जोकि पथरी की रोकथाम में सक्षम खास दवा है।

6. पथरी में ये चीजें नहीं खायें

टमाटर, पालक, चवली, गोभी बैगन, मशरूम, चीकू, कोल्ड ड्रिंक, काजू, काॅफी, चाॅकलेट, मीट-मांस, शराब, गुटका के सेवन से बचें। ये सारी चीजें पथरी को बढावा दे सकती हैं।

7. जौ अनाज पानी

पथरी होने पर रोज सुबह जौ पानी पीने से पथरी जल्दी निकलती है। 200 ग्राम जौं 3 लीटर पानी में कूट कर रात को भिगों दें। सुबह छानकर पानी निकाल लें। और सुबह खाली पेट, दोपहर भोजन से 15-20 मिनट पहले, रात्रि सोने से 10 मिनट पहले जौं पानी पीयें। जौं पानी सेवन पथरी समस्या में फायदेमंद है। जौं से बहुत सारे स्वास्थ्यवर्धक पेय बनाये जाते हैं। जौ किसी औषधि से कम नहीं है।

8. पत्थरचट्टा पौधा पथरी औषधि

पत्थरचट्टा पौधे की पत्तियों गाल ब्लैडर स्टोन के लिए अचूक रामबाण औषधि है। किड़नी स्टोन होने पर रोज सुबह खाली पेट पत्थरचट्टा के 4-5 कोमल पत्तों को लगातार 1 महीना चबाकर खाने से, और पत्थरचट्टे पत्ते और तुलसी पत्ते पीसकर 8-10 चम्मच रस 1 लीटर पानी में मिलाकर दिन में दो – बार पीने से पथरी धीरे-धीरे घटकर टुक्कडें रूप में पेशाब के रास्ते बाहर आ जाती है। प्रोस्टेट थैली से पथरी को तेजी से नष्ट करने में पत्थरचट्टा पत्ते / Patharchatta Leaf सेवन अचूक रामबाण औषधि है। पत्थरचट्टा पौधे के पत्ते स्वाद में खट्टे और नमकीन जैसे लगते हैं। तिलचट्टा पत्तों को सब्जी, सलाद में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। Kidney Stones Remove करने में पत्थरचट्टा पत्ते सहायक है।

हमें उम्मीद है कि पाठकों को पथरी में तुरन्त राहत व पथरी को आसानी से मिटाने और बिना आॅपरेशन के पथरी – निकालने के घरेलू नुस्खे पता चल गये होंगे। और होने वाले घातक पथरी से आसानी से छुटकारा पा पायेगें। पथरी यदि गम्भीर है तो डाॅक्टर से तुरन्त सलाह – सुझाव लें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY