Home Mens Health शीघ्र स्खलन रोकने (शीघ्रपतन) का आयुर्वेदिक इलाज

शीघ्र स्खलन रोकने (शीघ्रपतन) का आयुर्वेदिक इलाज

64
0
SHARE
ayurvedic-treatment-of-early-ejaculation
जानिए शीघ्रपतन रोकने के उपाय इन हिंदी शीघ्र स्‍खलन हमारे शरीर की ऐसी बीमारियों में शामिल है जिसका सामना करने से नफरत होती है और इसे अन्‍य लोगों को बताने में भी शर्मिंदगी होती है। लेकिन शीघ्र स्‍खलन का इलाज किया जा सकता है। समयपूर्व स्‍खलन को यौन संबंध बनाये बिना या फिर संबंध बनाने से पहले या यौन संबंध बनाने की शुरुआत के तुरंत बाद वीर्य स्‍खलन के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। पुरुषों में ये लक्षण तब होते हैं जब उनमें कम या अधिक यौन उत्‍तेजना होती है या फिर पुरुष की इच्‍छा के बिना यौन संबंध बनाए जाएं।


यह बीमारी दोनों भागीदारों के लिए चिंता और अवसाद जैसी नकारात्‍मक भावनाएं ला सकती है। यदि आप इस तरह की समस्‍या से ग्रसित हैं तो परेशान न हों। शीघ्र स्‍खलन का इलाज करने के लिए कुछ घरेलू उपचार मौजूद हैं। जो क‍ि शीघ्र स्‍खलन (शीघ्रपतन) का इलाज कर सकते हैं। आइए जाने शीघ्र स्‍खलन का इलाज क्‍या है।
जानिए शीघ्रपतन रोकने के उपाय इन हिंदी शीघ्र स्‍खलन हमारे शरीर की ऐसी बीमारियों में शामिल है जिसका सामना करने से नफरत होती है और इसे अन्‍य लोगों को बताने में भी शर्मिंदगी होती है। लेकिन शीघ्र स्‍खलन का इलाज किया जा सकता है। समयपूर्व स्‍खलन को यौन संबंध बनाये बिना या फिर संबंध बनाने से पहले या यौन संबंध बनाने की शुरुआत के तुरंत बाद वीर्य स्‍खलन के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। पुरुषों में ये लक्षण तब होते हैं जब उनमें कम या अधिक यौन उत्‍तेजना होती है या फिर पुरुष की इच्‍छा के बिना यौन संबंध बनाए जाएं।

शीघ्र स्खलन का इलाज

समय से पहले स्‍खलित होना पुरुषों की यौन क्षमता में कमजोरी को दर्शाता है। यह सभी उम्र के पुरुषों को हो सकता है जो कि उनके यौन जीवन को प्रभावित कर सकता है। इस समस्‍या से ग्रसित पुरुषों के लिए यह शर्मनाक हो सकता है। लेकिन यह किसी गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या नहीं है। इस समस्‍या का इलाज संभव है। इसके लिए आप किसी यौन चिकित्‍सक से संपर्क कर सकते हैं। लेकिन यदि आप चाहें तो इस समस्‍या से निपटने के लिए कुछ सरल, सस्‍ते और प्रभावी घरेलू उपायो को चुन सकते हैं। आइए जाने शीघ्र स्‍खलन के घरेलू उपाय क्‍या हैं।

शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक उपचार हरी प्‍याज के बीज

पुरुषों में होने वाली समय पूर्व स्‍खलन की समस्‍या को दूर करने का यह सबसे अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। हरी प्याज के बीज में कामोद्दीपक गुण होते हैं जे आपकी यौन समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। आप इस समस्‍या से बचने के लिए हरी प्‍याज के बीजों को पीस कर पानी में अच्‍छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को आप दिन में 3 बार भोजन के पहले पीएं। आप इस समस्‍या का उपचार करने के लिए सफेद प्‍याज का भी सेवन किया जा सकता है। यह आपके यौन नियंत्रण और यौन क्षमता दोनों को बढ़ाने में मदद करता है।

शीघ्र स्खलन की आयुर्वेदिक दवा लहसुन

आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि लहसुन यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने वाली प्राकृतिक दवा है। लहसुन का नियमित सेवन करने यह लिंग में रक्‍त प्रवाह को बढ़ाती है साथ ही यह आपके शरीर को गर्म रखने में भी मदद करती है। लहसुन का नियमित सेवन कर पुरुषों में शीघ्र स्‍खलन की समस्‍या का इलाज किया जा सकता है। पुरुषों को लहसुन के साथ गाय के दूध का उपयोग करना चाहिए। इसके लिए घी में लहसुन को धीमी आंच में सेकना चाहिए जब तक की यह सुनहरे रंग का न हो जाए। नियमित रूप से प्रतिदिन तीन से चार लहसुन की कलीयों का सेवन किया जा सकता हैं। यह स्तंभन दोष और समय पूर्व स्‍खलन की समस्‍या को दूर करने में मदद करता है।

शीघ्र स्खलन का घरेलू इलाज अदरक और शहद

यौन समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप अपने द्वारा दैनिक जीवन में उपयोग करने वाले बहुत से खाद्य पदार्थों का उपयोग कर सकते हैं। अदरक और शहद भी इन्‍ही उत्‍पादों में से एक है। अदरक आपके शरीर में रक्‍त प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है जिससे यह लिंग में पर्याप्‍त ऊर्जा और पोषक तत्‍वों को पहुंचाने में मदद करता है। जिससे यह समय से पहले होने वाले स्‍खलन को नियंत्रित करता है। शहद का उपभोग कामोद्दीपक के रूप में किया जाता है। आप सोने से पहले अदरक और शहद का सेवन कर सकते हैं। लेकिन अदरक और शहद का नियमित सेवन करने पर अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने में कुछ समय लग सकता है। लेकिन यह आपके लिए निश्चित ही फायदेमंद होता है।

शीघ्रपतन का इलाज अश्‍वगंधा से

भारतीय आयुर्वेद में पुरुषों की यौन समस्‍याओं को दूर करने के लिए अश्‍वगंधा का उपयोग प्राचीन समय से किया जा रहा है। अश्‍वगंधा आपके मस्तिष्‍क की क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है और पुरुषों में कामेच्‍छा को उत्‍तेजित करता है। यदि नियमित रूप से औषधी के रूप में अश्‍वगंधा का सेवन किया जाए जो यह पुरुषों स्‍खलन को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने में मदद करता है। यह यौन संभोग को लंबे समय तक बनाए रखने में सहायक होता है। इस जड़ी-बूटी का उपभोग करने से पुरुषों की सहनशक्ति बढ़ सकती है साथ ही यह स्तंभन दोष का उपचार भी कर सकती है।

शीघ्र स्खलन का घरेलू उपाय है शतावरी

इस पौधे की जड़ों का नियमित सेवन यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए बहुत ही प्रभावी मानी जाती है। यह समय से पहले स्‍खलन से बचने में बहुत ही फायदेमंद होती है। आप इन जड़ों को दूध में उबालें और दिन में इसका दो बार सेवन करें। यह आपके लिंग की मांसपेशियों को मजबूत करती है और समय से पहले स्‍खलन से बचाती है।

शीघ्रपतन की समस्या का समाधान करे तरबूज से

शायद आपको पता न हो लेकिन तरबूज एक ऐसा खाद्य फल है जिसे वियाग्रा के रूप में उपयोग किया जा सकता है। इसके सेवन का मुख्‍य लाभ यह है कि यह रक्‍त वाहिकाओं को आराम दिलाने में मदद करता है। शीघ्र पतन की समस्‍या से बचने के लिए भी तरबूज बहुत ही फायदेमंद होता है। तरबूत में परिवर्तन करने का केंद्रीय घटक साइट्रूलाइन (citrulline) के नाम से जाना जाने वाला फाइटोन्यूट्रिएंट मौजूद रहता है। जो किसी भी पुरुष में कामेच्‍छा को बढ़ाने में मदद करता है। इसके लिए आप तरबूत को टुकड़ों में काट लें और इन टुकड़ों में अदरक पाउडर और नमक को ऊपर से छिड़कें। यह लाजवाब फल खाने के लिए तैयार है। आप इस फल को खाने के लिए किसी अन्‍य सलाद के साथ भी उपयोग कर सकते हैं।

शीघ्रपतन का घरेलू नुस्खा है दालचीनी

विभिन्‍न प्रकार की सवास्‍थ्‍य समस्‍याओं के साथ-साथ दालचीनी पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होती है। यह आमतौर पर सामान्‍य सर्दी, गैस्‍ट्रिक समस्‍याओं और दस्‍त के लिए प्रभावकारी मानी जाती है। लेकिन यह महिलाओं के मासिक धर्म की ऐंठन और पुरुषों में शीघ्र पतन जैसी यौन समस्‍याओं को दूर करने में भी मदद करती है। पुरुषों में शीघ्र स्‍खलन की समस्‍या को रोकने के लिए दालचीनी का उपयोग इस प्रकार करना चाहिए।


इसके लिए आप 5 चम्‍मच पानी में 2 चम्‍मच दालचीन के पाउडर को मिलाएं और भोजन के बाद दिन में दो बार सेवन करें। यह आपके समय पूर्व स्‍खलन को रोकने में मदद करता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि दालचीनी में 3 औषधीय घटक दालचीनी एसीटेट, दालचीनी शराब, और सिनामाल्डेहाइड शामिल होते हैं जो यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। इसकी छाल में पाए जाने वाले बंधनकारी तेल पेट की समस्‍याओं को दूर कर आपके चयापचय दर को बढ़ाते हैं। यह आपके पाचन को भी ठीक रखता है जिसके कारण आपको समय पूर्व स्‍खलन की समस्‍या होने पर यह बेहतर काम करता है।

शीघ्र स्खलन रोकने का उपाय है भिन्‍डी

यदि आपको भिन्‍डी के सेवन से परहेज है तो एक बार इसके फायदे जान लें। भिन्‍डी का नियमित सेवन कर शीघ्र स्‍खलन की समस्‍या से बचा जा सकता है। इसलिए स्‍वाद के लिए न सही पर अपने यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने और शीघ्र पतन से बचने के लिए आप सेवन कर सकते हैं। जिन लोगों को सब्जी के रूप में भिन्‍डी का सेवन करने में दिक्‍कत होती है वे भिन्‍डी के पाउडर का भी उपभोग कर सकते हैं। यह शीघ्र पतन की समस्‍या को दूर करने में सहायक होता है।

शीघ्रपतन ठीक करने का तरीका है कद्दू के बीज

आपके लिए यह आर्श्‍चय की बात होगी की कद्दू के बीज आपके यौन प्रदर्शन को बढ़ाने में मदद करते हैं। यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने का मुख्‍य कारण इसमें मौजूद मैग्‍नीशियम है। यह खनिज पदार्थ रक्‍त प्रवाह में टेस्‍टोस्‍टेरोन को पहुंचाने में मदद करता है। इसलिए शीघ्र स्‍खलन से पीड़ित व्‍यक्तियों को नियमित रूप से कद्दू के बीजों का सेवन करना चाहिए। इसका उपयोग करने के लिए कद्दू के बीजों को अच्‍छी तरह से साफ कर लें और इन्‍हें घूप में सुखा लें। सूखने के बाद इन बीजों को जैतून तेल के साथ भून लें और फिर इसमें स्‍वादानुसार काली मिर्च और नमक आदि के साथ सेवन करें।


कद्दू बीजों में वसा के ऐसे घटक होते हैं जो रक्‍त प्रवाह और दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करते हैं। इनका नियमित सेवन करने से आप अपनी भावनाओं को नियंत्रित कर सकते हैं जो कि शीघ्र स्‍खलन आदि की समस्‍या को रोनके में आपकी मदद करते हैं।

शीघ्र स्खलन से छुटकारा दिलाता है जायफल

सामान्‍य रूप से जायफल हमारे रसोई घर में उपलब्‍ध होता है। यह एक मसाले के रूप में उपयोग किया जाता है। लेकिन यह विभिन्‍न प्रकार की बीमारियों के इलाज में भी उपयोग किया जाता है। इस मसाले में मौजूद कामोद्दीपक गुण इसे समय से पहले होने वाले स्‍खलन का सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय बनाते हैं। आप यौन स्‍वास्‍थ्‍य और विभिन्‍न बीमारियों से बचने के लिए जायफल के पाउडर को कद्दू के बीज, सॉस और अन्‍य प्रकार के खाद्य पदार्थों के साथ भी उपभोग कर सकते हैं। शीघ्र पतन से बचने के लिए आप 1500 ग्राम पानी लें और इसमें कुछ कद्दू के बीज, दो छोटे कटे हुए आलू, और लहसुन की 6-8 कलीयों को मिलाएं। इस पानी को आलू और लहसुन के पकने तक उबालें। अच्‍छी तरह से पकने के बाद आप इस मिश्रण को ठंड़ा करें और इस सूप का सेवन करें।


जायफल में बंधनकारी तेल elemicin, eugenol, safrole, myristicin आदि होते हैं जो सुंगध और स्‍वाद देते हैं। जायफल में बहुत से खनिज पदार्थ भी होते हैं जैसे कि मैंगनीज, जस्‍ता, मैग्‍नीशियम, तांबा और पोटेशियम आदि। इन खनिजों की उपस्थिति के कारण यह यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं और समय से पहले होने वाले स्‍खलन को रोकने में भी मदद करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here