Home Health is Wealth पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय

29
1
SHARE
how to improve digestion naturally at home
आज के समय में पाचन कि समस्या को लेकर सभी लोग परेशान रहते हैं, प्रत्येक व्यक्ति स्वादिष्ट भोजन करना चाहता हैं पर पेट कि समस्या को लेकर लोग अपनी इक्छा अनुसार भोजन नहीं कर पाते है। समय कि कमी के कारण लोग फ़ास्ट फ़ूड ओर जंक फ़ूड खाना पसंद करते हैं जिसके कारण पेट कि समस्या आम बात हैं जिससे पाचन कि समस्या हो जाती हैं। इससे बचने के लिए पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय काफी असरदायक होते हैं, आप घर में उपलब्ध सामग्री से ही अपने पाचन शक्ति को आसानी से बड़ा सकते हैं।

पाचन शक्ति कमजोर होने के मुख्य लक्षण हैं जैसे

  • गैस बनना
  • भूक न लगना
  • एसिडिटी
  • पेट में जलन
  • अल्सर
  • आदि


पाचन शक्ति बढ़ाने का उपाय है अदरक

अदरक का प्रयोग तो हम सब के घर में होता ही हैं और हम सब इससे अच्छे से परिचित हैं। अदरक पेट के पाचनतंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं यह पाचन के लिये बहुत प्रसिद्ध हैं, अदरक हमारे पेट के अम्ल कि मात्रा को कम कर देता हैं अदरक में जिंजरोल और शोगोल नामक रसायन होते हैं जो पेट के पाचन शक्ति बढ़ाने में बहुत असरदायक सिद्ध होता हैं इसके लिए आप एक चम्मच बारीक़ कटा हुआ अदरक ले और एक कप पानी ले अब इस पानी में अदरक को डाल के उसे उबाल ले, उबलने के बाद जब ये थोड़ा ठंडा हो जाये तो इसमे शहद को मिला दे, अब आपको इसे भोजन से पहले या सोने से पहले 2 से 3 बार पीना है।

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए लाभदायक पानी

पानी पाचन क्रिया का एक आवश्यक भाग हैं, पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए लाभदायक होता है हमारे शरीर को भोजन को पचाने के लिए पानी कि आवश्कता होती हैं, बिना पानी के पाचन संभव नहीं हैं पानी कि कमी के कारण पाचन होना कठिन हो जाता हैं, भोजन में से पोषक तत्व को अवशोषित करने के लिए पानी कि पर्याप्त मात्रा आवश्यक होती हैं पानी कि कमी के कारण उल्टी और दस्त जैसी समस्या हो सकती हैं।


सामान्यतः किसी स्वस्थ मनुष्य को पानी कि आवश्यकता प्रति दिन पुरुषों में 4 से 5 लीटर होती हैं और महिलाओं में 3से 4 लीटर होती हैं इसलिए हमें अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए।

पाचन शक्ति बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा पुदीना कि चाय

पुदीना एक सांस फ्रेशनर है पर इसके साथ-साथ यह शरीर के लिए काफी फायदेमंद हैं यह एक एंटीस्पाज्मोडिक (Antispasmodic) हैं इसलिए पाचन शक्ति बढाने के लिए पुदीना आयुर्वेदिक दवा की तरह काम करता हैं इसे उल्टी और दस्त रोकने के लिए प्रयोग में लाया जाता हैं, पुदीना पेट में बनने वाली गैस के लिए पुराना इलाज माना जाता हैं। पुदीना कि कैंडी को चूसने से दर्द कम हो जाता हैं, इसके लिए आप को चाहिए पुदीना कि ताजी पत्ती 1 से 2 चम्मच और 2 कप पानी और शहद। उसके बाद पुदीना पत्ती को पानी में डाल के उसे उबाल ले और जब थोडा ठंडा हो जाये तो उसमे शहद मिला दे। ये आपको प्रति दिन 1 से 2 बार पीना हैं कुछ दिन बाद आप को इससे लाभ दिखाई देगा ।

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए नींबू पानी

नीबू पानी पाचन के लिए बहुत लाभदायक होता हैं, नींबू की क्षारीय प्रकृति के कारण यह पेट कि अम्लीयता को खत्म कर देता हैं और यह पाचन शक्ति को बढाता हैं। नीबू विटामिन c का अच्छा स्त्रोत हैं नीबू के एक चम्मच रस को एक गिलास गर्म पानी में मिला के खाना खाने के पहले पीना हैं, कुछ दिन तक रोज इसका सेवन करने से आप के पाचन शक्ति में सुधर दिखाई देने लगेगा। इसे पिने के बाद साधारण पानी से कुल्ला कर ले जिस से अपने दांत को कोई हानि न पहुंचे।

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय सौंफ़

भारतीय परम्परा के अनुसार खाना खाने के बाद सौफ़ को दिया जाता हैं क्योंकि यह पाचन क्रिया को तेज करती हैं जिससे पाचन अच्छी तरह से होता हैं, सौंफ में एंटीस्पाज्मोडिक पाया जाता हैं जो कि अपचन को ठीक करने में मदद करता हैं, सौफ़ के सेवन से पेट की ऐठन और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जैसी समस्याओं को खत्म कर देता हैं इसके लिए आप को पानी में आधा चम्मच सौंफ पाउडर ले और उसको पानी में 10 मिनिट तक उबाले और जब भी आपको को पाचन सम्बन्धी कोई प्रोब्लम लगे तो आप इसका सेवन करे इससे आपको लाभ होगा।

1 COMMENT

  1. Find the best solution to overcome tiredness,laziness & fatigue
    If you want a treatment for chronic fatigue syndrome in overall India
    please check out right doctor on one place meddco.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here