Home SMS in Hindi Love Shayri In Hindi

Love Shayri In Hindi

769
4
SHARE
Love Shayri In Hindi
ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है,
शमां जिसको भी जलाती है, वो परवाने बन जाते है।
कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नही होती,
किसी को खोकर भी, कुछ लोग दिवाने बन जाते है।


चलते चलते राह में उनसे पहली मुलाकात हुई,
वो कुछ शरमाई फिर सहम सी गई,
दिल तो हमारा भी किया कि कह दे उनसे अपने दिल की बात…
पर कम्बखत इस दिल की इतनी हिम्मत ही न हुई.


जब यार मेरा हो पास मेरे, मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।
लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे, मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।
अलफ़ाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता हैं, यहाँ पानी को भी प्यास लिखा जाता हैं.
मेरे ज़ज़्बात से वाकिफ हैं मेरी कलम, मैं प्यार लिखू तो तेरा नाम लिखा जाता हैं.


बाहर से सूरज की गर्मी की तरह, अंदर से बारिश की बूंदो की तरह.
क्या बोलू उसके बारे में..वो तो हैं, घने बादलो में इंद्र धनुष की तरह.


मेरी शायरी के हर अलफ़ाज़ में मैंने आपको सजाया, मेरी यादों के हर किस्से में मैंने आपको ही पाया.
ख़ुशी हो या गम साथ, आपने हर पल निभाया, रोशन हुयी ज़िन्दगी जब से सनम आपको बनाया.
दिल की खिड़की से बाहर देखो ना कभी
बारिश की बूँदों सा है एहसास मेरा…

घनी जुल्फों की गिरह खोलो ना कभी
बहती हवाओं सा है एहसास मेरा….

छूकर देखो कभी तो मालूम होगा तुम्हें
सर्दियों की धूप सा है एहसास मेरा ।







जाने क्यूँ आजकल, तुम्हारी कमी अखरती है बहुत
यादों के बन्द कमरे में, ज़िन्दगी सिसकती है बहुत

पनपने नहीं देता कभी, बेदर्द सी उस ख़्वाहिश को
महसूस तुम्हें जो करने की, कोशिश करती है बहुत

दावे करती हैं ज़िन्दगी, जो हर दिन तुझे भुलाने के
किसी न किसी बहाने से, याद तुझे करती है बहुत

आहट से भी चौंक जाए, मुस्कराने से ही कतराए
मालूम नहीं क्यों ज़िन्दगी, जीने से डरती है बहुत।

जाम पे जाम पीने से क्या फायदा, शाम को पी सुबह उतर जाएगी,
अरे दो बूंद मेरे प्यार की पीले, जिन्दगी सारी नशेमे गुज़र जाएगी”


लबो से चाहत की खुशबू चुराने दो बहुत हो गया सितम, अब तो पास आने दो.

ना करना जुबां से इज़हार मोहब्बत का… बस इशारो से ही राज़-ए-दिल की बात बताने दो.
हो मेहबूब तुम्हारे जैसा हसीन तो मुमकिन हैं देख कर तुमको निगाहो में खुमार भर जाने दो.

है गुज़ारिश नहीं संभालता ये इश्क़ हमसे अब तो टूट कर बाहो में बिखर जाने दो.


दर्द की जब कभी इन्तहा होती हैं, दवा की जरुरत फिर कहाँ होती हैं.
तन्हाई, बेचैनी और बस कुछ आहें, इनमे पल कर ही मोहब्बत जवां होती हैं.

तेरी दुआओं का असर है, जो अब तक मैं सलामत हूँ.! तेरी आँखों की नमी नहीं, हाथों की लकीरों में बस्ता हूँ
मैं जानता हूँ जान-ए-जहाँ, तुझे बस मोहब्बत है मुझ से, तेरी साँसों की राह पकड़…., तेरी रूह में बस्ता हूँ….|


मिटा दो अब तो रंजिशो को सारी, यूँ रूठ कर कब तक तडपाओगी हमें.
सुनो ना, जान थे हम भी कभी तुम्हारी, कब तक साँसो से दूर रखपाओगी हमें.


मुझसे वादा करो मुझे रुलाओगे नहीँ, हालात जो भी हो मुझे भुलाओगे नहीं.
छुपा के अपनी आँखों में रखोगे मुझ को, दुनिया में किसी और को दिखाओगे नहीं.
मेरे लफ़्ज मेरे दिल की तहरीरें हैं…, कसम उठाओ इन को कभी जलाओगे नहीं.
मुझे ये यकीन दिलाओ मुझे याद रखोगे, मेरी यादों को अपने दिल से मिटाओगे नहीं.


जाने क्यों, वो मेरी उम्मीद की डोर टूटने नही देता,
बस और दो कदम साथ चलने का वास्ता देकर, वो मुझे कभी भी रुकने नही देता……!!
बात करता है, वो हंस-हंस कर, खुश रहने की वास्ता देकर अपनी खुशी का, वो मुझे रोने नही देता.
बढाता है होंसला मेरा, की हर पल मेरे साथ है, वास्ता देकर अपने साथ का, वो कभी मुझे अकेला होने नही देता.
कहता है, ज़िन्दगी जीने का नाम है, वास्ता देकर ज़िन्दगी का, वो मुझे मरने नही देता !
समंदर से भी गहरी है, मेरे यार की आँखें….!!
नदियों से भी लहरी है, मेरे दिलदार की आँखे,
खो जाता हूँ इन नैन में, जो फूल सी सुन्दर है
मेरे प्यार की आँखे..!!







कभी उठता हूँ, कभी गिरता हूँ जाम से भी नशीली है, मेरे जाने बहार की आँखे.
जल जाता हूँ इन बहारों में, ज्वाला मुखी से भी तेज़ है, मेरे दिलबहार की आँखे….!
डूब जाता हूँ इन नज़रों मैं, ऐसी है मेरे तलबदार की आँखे


हलकी हलकी जल की बूंदे, जब लेकर आते है बादल, मन मसोस कर रह जाती हूूँ, बह जाता है मेरा काजल.
कैसे है ये बैरी बादल, पूछ रहा है ये मेरा आँचल.. आसमान भी कह रहा है, ये निर्मोही है काले बादल.
कड़कड़ाहट आवाज़ से, प्रेमियों को कर देता है पागल, काली घटा जब छट जायेगी, जब समझेगे ये बादल.
हमारी इल्तिज़ा है तुमसे, जरा रूक कर बरसों बादल, प्रेमी जब मेरा आ जाए, फिर जम कर बरसों बादल.


साथ तेरा जो मिला तो दिल में सुकून सा लगने लगा, तेरा ना छोड़ेंगे साथ कभी हर पल ख़्वाब सजने लगा.
नहीं पता था ज़िन्दगी क्या होती हैं तुझसे मिलने से पहले, तुम आये ज़िन्दगी में मेरी तो सोया अरमान मचलने लगा.
तुम ही से तो जुडी हैं अब हर खुशिया मेरी जानेमन, तुम्हारी छुहन से मेरा हर लम्हा अब महकने लगा.
पता ना चला कब कौन सी डोर तेरी ओर खिंच लायी, तेरा साथ पाकर मेरा हर लम्हा खूबसूरत बनने लगा.
#love sms in Hindi for girlfriend, #Hindi sms, #sms shayari, #love messages in Hindi, #love shayari sms,
#most romantic sms Hindi, #best friend sms in Hindi, #very sweet love sms in Hindi, #pyar sms Hindi, #i love you sms in Hindi,

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here