Home Womens Health जानिए शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए सुरक्षित समय

जानिए शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए सुरक्षित समय

1010
1
SHARE
safe-period-to-avoid-pregnancy-after-menstruation-in-hindi
शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए सुरक्षित समय का मतलब है की जब महिलाएं अनप्रोटेक्टेड शारीरिक सम्बन्ध बनाने पर भी प्रेगनेंट नहीं होती है अक्सर महिलाये प्रेग्नेंसी से बचने के लिए मासिक धर्म के बाद सुरक्षित अवधि या सेफ पीरियड की जानकारी रखती है। यौन संबंध बनाना एक नेचुरल प्लेजर है। शारीरिक सम्बन्ध बनाने से अच्छा एहसास तो होता ही है साथ ही इसके अन्य कई फायदे होते हैं। लेकिन अक्सर लोग उन सेफ डे के बारे में जानना चाहते है जिसमे वो बिना की शुरक्षा के ये काम कर सकें और प्रेगनेंसी भी ना हो, तो आइये जानते है महीने के उन दिनों के बारे में जिसमे आप बिना किसी प्रोटेक्शन के ये काम कर सकते है।
ये काम करने के दौरान पूरी तरह से सुरक्षा बरतनी चाहिए अन्यथा आप गर्भवती भी हो सकती है। गर्भधारण करना चाहती है तो आपको ओव्यूलेशन पीरियड में यानि की पीरियड्स से 14 दिन पहले ये काम करना चाहिए। लेकिन गर्भधारण नहीं करना चाहती तो आपको इसका ख्याल रखना चाहिए की कब ये काम करना सुरक्षित होता है। आंगे के लेख में हम इसके बारे में आपको बताएँगे की वो कौन से दिन होते है जिसमे ये काम करने से आप गर्भवती नहीं होगीं। हालांकि बहुत सारी गर्भनिरोधक गोलियां बाजार में मौजूद होती है लेकिन अगर आप उनका सेवन नहीं करना चाहती तो ये काम करते समय सावधानियां बरते और सुरक्षात्मक उपाय अपनाएं। इस आर्टिकल में हम विस्तार से बताने जा रहे हैं कि कब ये काम करने से आपके के चांस कम हो जाते हैं।

शारीरिक सम्बन्ध बनाने के बाद क्यों सो जाते हैं पुरुष

शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना कैसे करें – How To Calculate Safe Physical relationship Period Days in Hindi

मासिक धर्म चक्र पीरियड्स आने के पहले दिन से अगली बार पीरियड्स आने के पहले दिन की अवधि के बीच का हिस्सा होता है। पीरियड्स के सात दिन और 21वें दिन के बाद अगला पीरियड्स आने तक का समय ये काम करना सुरक्षित माना जाता है। इस दौरान आप बिना किसी परेशानी और चिंता के ये काम कर सकते हैं। यह पीरीयड हर महिला के लिए अलग-अलग होता है और यह उनके मासिक धर्म चक्र पर निर्भर करता है। अगर आपका मासिक धर्म चक्र छोटा है तो आपके गर्भवती होने के चांस ज्यादा हो सकते हैं। इसलिए गर्भधारण से बचने के लिए 3 स्टेप की मदद से पीरियड कैलकुलेटर को जांचे और गर्भधारण करने से बचे।

पति को बिस्तर पर इम्प्रेस करने के तरीके

शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना करने के स्टेप – How To Calculate Safe Physical relationship Period Days steps in Hindi

सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना का पहला स्टेज प्री-ओव्यूलेटरी या फर्टिलाइजर फेज होता है। फर्टिलाइज़र फेज 2 से 14 दिनों के बीच का होता है जब आपका शरीर हार्मोन स्रावित करता है जो कि गर्भाश्य में अंडे की वृद्धि को उत्तेजित करते हैं। हार्मोन्स यूट्रस लाइनिंग को मोटा कर देते हैं जिससे फर्टीलाइजिंग एग मिल जाते हैं। यह अवस्था एस्ट्राडियोल हार्मोन द्वारा नियंत्रित होती है। इसका दूसरा स्टेज ओव्यूलेशन फेज कहलाता है जो कि मासिक धर्म चक्र के बीच के दिनों मे आता है जब परिवक्व ओवेरियन फॉलिकल्स फर्टिलाइजेशन के लिए अंडे को रिलीज करने को तैयार हो जाते हैं। यह काफी संवेदनशील पीरियड होता जब एक महिला के गर्भवती होने के चांस सबसे ज्यादा होते हैं। वहीं यह आखिरी फेज़ है जो कि ओव्यूलेशन के बाद शुरु होता है और गर्भावस्था में खत्म होता है या फिर अगली बार पीरियड्स आने पर खत्म होता है। इस फेज़ में यूट्रस लाइनिंग मोटी हो जाती है और गर्भधारण के लिए पूरी तरह तैयार हो जाती है। यह समय 16 दिनों के लगभग का होता है। लेकिन अगर यह 12 दिन से छोटा होता है तो गर्भधारण करना मुश्किल हो जाता है।

पहली बार संबंध बनाने के बाद लड़कियों के शरीर में आते है यह बदलाव

गर्भवती होने से बचने के लिए कब ना बनाऐ शारीरिक सम्बन्ध – When to avoid Physical relationship to avoid pregnancy in Hindi

महिला के गर्भाश्य में स्पर्म 5 दिन तक जीवित रहता है। ऐसे में आपको ध्यान कि रखना चाहिए कि आपको कब ये काम करना है और कब नहीं। दरअसल कंडोम के बिना ये काम करना ज्यादा कामुकता का एहसास करवाता है लेकिन ओव्यूलेशन से 5 दिन बाद तक आपको बिना प्रोटेक्शन के ये काम नहीं करना चाहिए। ये काम करने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना करके आप बिना किसी परेशानी के ये काम कर सकते हैं और खुद यह जान सकते हैं कि गर्भधारण करने के लिए आपको कब ये काम करना चाहिए और कब नहीं। ये काम करते समय कंडोम का इस्तेमाल करना सुरक्षित रहता है। इसके अलावा कॉपर टी और गर्भनिरोधक गोलियां भी गर्भावस्था से बचाने का अच्छा उपाय होती है।

मासिक धर्म के दौरान शारीरिक सम्बन्ध बनना सुरक्षित माना जाता है – Physical relationship during menstruation cycle is safe in Hindi

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन पीरियड्स के दौरान ये काम करना अच्छा होने के साथ-साथ इस दौरान गर्भधारण की संभावनाएं भी बहुत कम होती है। ये काम करते समय पीरियड्स के दौरान निकलने वाला रक्त प्राकृतिक लुब्रिकेशन का काम करता है तो वहीं इस रक्त में मृत अंडे बाहर निकल जाते हैं। जिससे निषेचन नहीं होता है इसलिए पीरियड्स के दौरान ये काम करना सबसे अच्छा और सुरक्षित माना जाता है।

#how to not get pregnant in Hindi language, #what is the safe period to avoid pregnancy in Hindi, #home remedies for unwanted pregnancy in Hindi, #pregnancy test in Hindi language, #how to stop pregnancy, #pregnancy stop solution, #how to save pregnancy in Hindi, #how to avoid pregnancy naturally, #Precautions To Avoid Getting Pregnant, #dadima Ke Nuskhe for pregnancy, #how to avoid pregnancy after 15 days, #how to prevent pregnancy after 1 week, #how to avoid pregnancy in Hindi, #safe days to avoid pregnancy, #pills to prevent pregnancy, #how to avoid pregnancy after delivery,

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here