Home Womens Health जानिए शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित समय

जानिए शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित समय

44
0
SHARE
safe-period-to-avoid-pregnancy-after-menstruation
शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित समय (सेफ पीरियड) का मतलब है की जब महिलाएं अनप्रोटेक्टेड शारीरिक संबंध बनाने पर भी प्रेगनेंट नहीं होती है अक्सर महिलाये प्रेग्नेंसी से बचने के लिए सेफ पीरियड की जानकारी रखती है। यौन संबंध बनाना यानि की शारीरिक संबंध बनाने एक नेचुरल प्लेजर है। सेक्स करने से कामुकता बढ़ती और अच्छा एहसास तो होता ही है साथ ही सेक्स करने के अन्य कई फायदे होते हैं। लेकिन अक्सर लोग शारीरिक संबंध बनाने के उन सेफ डे के बारे में जानना चाहते है जिसमे वो बिना की शुरक्षा के शारीरिक संबंध बना सकें और प्रेगनेंसी भी ना हो, तो आइये जानते है महीने के उन दिनों के बारे में जिसमे आप बिना किसी प्रोटेक्शन के शारीरिक संबंध बना सकते है।


शारीरिक संबंध बनाने के दौरान पूरी तरह से सुरक्षा बरतनी चाहिए अन्यथा आप गर्भवती भी हो सकती है। गर्भधारण करना चाहती है तो आपको ओव्यूलेशन पीरियड में यानि की पीरियड्स से 14 दिन पहले शारीरिक संबंध बनाने चाहिए। लेकिन गर्भधारण नहीं करना चाहती तो आपको इसका ख्याल रखना चाहिए की कब शारीरिक संबंध बनाना सुरक्षित होता है। आंगे के लेख में हम इसके बारे में आपको बताएँगे की वो कौन से दिन होते है जिसमे शारीरिक संबंध बनाने से आप गर्भवती नहीं होगीं।
हालांकि बहुत सारी गर्भनिरोधक गोलियां बाजार में मौजूद होती है लेकिन अगर आप उनका सेवन नहीं करना चाहती तो शारीरिक संबंध बनाने समय सावधानियां बरते और सुरक्षात्मक उपाय अपनाएं। इस आर्टिकल में हम विस्तार से बताने जा रहे हैं कि कब शारीरिक संबंध बनाने से आपके गर्भवती होने के चांस कम हो जाते हैं।

शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना कैसे करें

मासिक धर्म चक्र पीरियड्स आने के पहले दिन से अगली बार पीरियड्स आने के पहले दिन की अवधि के बीच का हिस्सा होता है। पीरियड्स के सात दिन और 21वें दिन के बाद अगला पीरियड्स आने तक का समय शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित माना जाता है। इस दौरान आप बिना किसी परेशानी और चिंता के शारीरिक संबंध बना सकते हैं। यह पीरीयड हर महिला के लिए अलग-अलग होता है और यह उनके मासिक धर्म चक्र पर निर्भर करता है। अगर आपका मासिक धर्म चक्र छोटा है तो आपके गर्भवती होने के चांस ज्यादा हो सकते हैं। इसलिए गर्भधारण से बचने के लिए 3 स्टेप की मदद से पीरियड कैलकुलेटर को जांचे और गर्भधारण करने से बचे।

शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना करने के स्टेप

सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना का पहला स्टेज प्री-ओव्यूलेटरी या फर्टिलाइजर फेज होता है। फर्टिलाइज़र फेज 2 से 14 दिनों के बीच का होता है जब आपका शरीर हार्मोन स्रावित करता है जो कि गर्भाश्य में अंडे की वृद्धि को उत्तेजित करते हैं। हार्मोन्स यूट्रस लाइनिंग को मोटा कर देते हैं जिससे फर्टीलाइजिंग एग मिल जाते हैं। यह अवस्था एस्ट्राडियोल हार्मोन द्वारा नियंत्रित होती है।


इसका दूसरा स्टेज ओव्यूलेशन फेज कहलाता है जो कि मासिक धर्म चक्र के बीच के दिनों मे आता है जब परिवक्व ओवेरियन फॉलिकल्स फर्टिलाइजेशन के लिए अंडे को रिलीज करने को तैयार हो जाते हैं। यह काफी संवेदनशील पीरियड होता जब एक महिला के गर्भवती होने के चांस सबसे ज्यादा होते हैं।


वहीं यह आखिरी फेज़ है जो कि ओव्यूलेशन के बाद शुरु होता है और गर्भावस्था में खत्म होता है या फिर अगली बार पीरियड्स आने पर खत्म होता है। इस फेज़ में यूट्रस लाइनिंग मोटी हो जाती है और गर्भधारण के लिए पूरी तरह तैयार हो जाती है। यह समय 16 दिनों के लगभग का होता है। लेकिन अगर यह 12 दिन से छोटा होता है तो गर्भधारण करना मुश्किल हो जाता है।

गर्भवती होने से बचने के लिए कब ना बनाये शारीरिक संबंध

महिला के गर्भाश्य में स्पर्म 5 दिन तक जीवित रहता है। ऐसे में आपको ध्यान कि रखना चाहिए कि आपको कब शारीरिक संबंध बनाने है और कब नहीं। दरअसल कंडोम के बिना शारीरिक संबंध बनाने ज्यादा कामुकता का एहसास करवाता है लेकिन ओव्यूलेशन से 5 दिन बाद तक आपको बिना प्रोटेक्शन के शारीरिक संबंध बनाने चाहिए। शारीरिक संबंध बनाने के लिए सुरक्षित पीरियड्स के दिनों की गणना करके आप बिना किसी परेशानी के शारीरिक संबंध बनाने हैं और खुद यह जान सकते हैं कि गर्भधारण करने के लिए आपको कब शारीरिक संबंध बनाने चाहिए और कब नहीं। शारीरिक संबंध बनाने समय कंडोम का इस्तेमाल करना सुरक्षित रहता है। इसके अलावा कॉपर टी और गर्भनिरोधक गोलियां भी गर्भावस्था से बचाने का अच्छा उपाय होती है।

मासिक धर्म के दौरान शारीरिक संबंध बनाने सुरक्षित माना जाता है

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाने अच्छा होने के साथ-साथ इस दौरान गर्भधारण की संभावनाएं भी बहुत कम होती है। शारीरिक संबंध बनाते समय पीरियड्स के दौरान योनि से निकलने वाला रक्त प्राकृतिक लुब्रिकेशन का काम करता है तो वहीं इस रक्त में मृत अंडे बाहर निकल जाते हैं। जिससे निषेचन नहीं होता है इसलिए पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाना सबसे अच्छा और सुरक्षित माना जाता है।

गर्भावस्था रोकने के लिए अन्य उपाय

अन्य कई तरीकों से शरीर में गर्भधारण होने के प्रति जागरुक रह कर आप खुद को गर्भवती बनने से रोक सकती है। बहुत सारे फर्टीलिटी अवेयरनेस-बेस मैथड यानि (प्रजनन जागरूकता-आधारित तरीके) होते हैं जिनकी मदद से आप खुद पहचान सकती है कि शरीर में ओव्यूलेशन हो रहा है या नहीं?


महिला के ओव्यूलेशन के दौरान शरीर का तापमान साधारण की तुलना में बढ़ जाता है। इसलिए आपको सेक्स करने के बाद शरीर के तापमान को रोजाना मॉनीटर करने की जरुरत होती है।

ओवुलेशन साइकिल की जांच के लिए कैलेंडर की तारीखों का ध्यान रखें

आपका पीरियड्स साइकल का पहला दिन कैलेंडर पर मार्क करें। उसके बाद यह जांचें की आपको पीरियड्स आने में देरी हो रही है या नहीं? अगर देर हो रही है और पीरियड्स नहीं आ रहें हैं तो डॉक्टर को दिखाएं।


गर्भवती होने से बचने का सबसे सुरक्षित तरीका कंडोम हैं लेकिन अगर आप फिर भी कंडोम के बिना शारीरिक संबंध बनाते है तो शारीरिक संबंध करने के 24 घंटे के भीतर गर्भनिरोधक दवा जरुर लें। साथ ही आपको समय-समय पर प्रेगनेंसी टेस्ट करते रहना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here