Home Lifestyle पैरंट्स ध्यान दें! कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये गलतियां

पैरंट्स ध्यान दें! कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये गलतियां

109
0
SHARE
Parent's Attention! These mistakes are not even where you are

बच्चों पर सबसे ज्यादा प्रभाव उनके पैरंट्स का होता है। वे उन्हें देखकर ही ज्यादातर चीजें सीखते हैं। वैसे तो हर माता-पिता अपने बच्चे की बेहतरी के लिए ही सोचते हैं, लेकिन कई बार वह ऐसी चीजें कर जाते हैं जो बच्चों पर नकारात्मक असर डालते हैं। यह प्रभाव अगर बना रहे तो आगे चलकर भी बच्चे को अपने जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आपके बच्चे के साथ ऐसा न हो, इसलिए हम बता रहें हैं पैरंट्स की कुछ ऐसी गलतियों या आदतों के बारें में जो बच्चों को नुकसान पहुंचाती हैं।

उम्मीदों को थोपना

पैरंट्स अपने बच्चों से काफी उम्मीदें करते हैं जो स्वाभाविक भी है। हालांकि, उम्मीदों को बच्चों पर थोपना और फिर उनके हमेशा पूरे होने की उम्मीद करना गलत है। आप क्या चाहते हैं और आपका बच्चा क्या चाहता है इसमें अंतर हो सकता है। अगर ऐसा है तो बेहतर यही है कि आप बच्चे की ख्वाहिश को समझें और अगर सही लगे तो उसे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें।

ओवर पजेसिवनेस

बच्चों को लेकर पैरंट्स पजेसिव होते ही हैं, लेकिन यह भावना जरूरत से ज्यादा होना बच्चे के लिए अच्छा नहीं है। बच्चों से ज्यादा पूछताछ करना या हर चीज को लेकर रोक-टोक करना उन में नेगेटिव फीलिंग्स को बढ़ा सकता है और बड़े होने पर वह आपसे दूर जा सकते हैं।

तुलना करना

बच्चे के आत्मविश्वास को जो चीज सबसे ज्यादा चोट पहुंचाती है वह है दूसरों से तुलना करना। आपके बच्चे से अच्छे मार्क्स कोई और ले आया, किसी प्रतियोगिता में उससे बेहतर कोई और परफॉर्म कर गया तो ऐसे में तुलना करने से बचें। यदि आपका बच्चे का आत्मविश्वास कमजोर हो गया तो इसके नकारात्मक परिणाम उसे भविष्य में भी भुगतने होंगे।



Reasons Why Marriage Life Spoil


जरूरत से ज्यादा सख्ती

सख्ती होना जरूरी है लेकिन अगर यह ज्यादा हो तो बच्चे पर बुरा प्रभाव पड़ता है। हर चीज के लिए बच्चे को डांटना, सजा देना जरूरी नहीं है। यह न भूलें कि उनकी उम्र काफी कम है ऐसे में उन्हें अभी सही और गलत का अच्छे से ज्ञान नहीं है। बेहतर होगा कि सख्ती दिखाने की जगह उन्हें प्यार से समझाएं। इससे बच्चे के मन में आपके लिए डर भी नहीं बैठेगा और वह बात समझेगा भी।

समय न देना

भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद के लिए भी समय निकालना एक टास्क ही है, लेकिन घर में यदि बच्चा है तो बेहतर होगा कि आप अपनी लाइफ और दिनचर्या को इस तरह प्लान करें कि उसे क्वालिटी टाइम दे सकें। आपकी गैरमौजूदगी उसे न सिर्फ आपसे दूर करेगी बल्कि भावनाओं से जुड़ी कई परेशानियों का कारण भी बन जाएगी।

विश्वास न करना

माना कि बच्चे कई बार खुद की गलती छिपाने के लिए झूठ बोल देते हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप उनकी बातों पर विश्वास ही नहीं करें। वह जो भी बोल रहे हैं पहले उसे ध्यान से सुनें और फिर उसकी सच्चाई जानने के लिए कुछ सवाल पूछें। उनके जवाब से आप सच का पता कर सकते हैं। यह भी जानने की कोशिश करें कि उन्होंने आखिर झूठ बोला क्यों। अगर आप उनकी हर बात को शक की निगाह से देखेंगे तो वे आपको बातें बताना बंद कर सकते हैं जो दूरी का कारण बनेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here